loading...

एक उंगली से चोदने के बाद अपनी दो उंगलियाँ उसकी बूर में डाल दी

एक उंगली से चोदने के बाद अपनी दो उंगलियाँ उसकी बूर में डाल दी

loading...

दोस्तो मेरा नाम हितेश है, उम्र 24 वर्ष! मै जबलपुर के पास एक छोटे से शहर में रहता हूँ। मेरे लंड का साइज़ सामान्य से लंबा सात और मोटा(तीन) है।

यह मेरी बिलकुल सच्ची कहानी है। देसी कॉलेज गर्ल बात तब कि है जब मै एक स्कूल में टीचर था उस वक्त एक लड़कि स्कूल में पढ़ती थी उसका ना माही था। माही कि लम्बाई 5 फिट 5 इंच, फिगर 32-28-32 का था। जब मै पढ़ाता था तब माही कि नज़र मेरे ऊपर ही होती थी पर मैने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। एक बार उसने मेरा नंबर माँगा तो मैने भी उसको अपनी स्टूडेंट समझ कर नंबर दे दिया। मैने किसी कारणवश स्कूल से नौकरी छोड़ दी थी। कुछ दिन बाद उसका फ़ोन मेरे नंबर पर आया। मैने कॉल अटैंड किया, उसने अपना नाम बताया तो मैने उससे हालचाल पूछा और काल करने का कारण पूछा तो उसने बताया- आपकि याद आ रही थी तो कॉल कर लिया! इस पर मैने भी ज्यादा ध्यान नहीं दिया और फ़ोन रख दिया। ऐसे ही उसके फ़ोन मेरे पास आना शुरू हो गए। आखिर मै भी जवान लड़का हूँ तो मैने उससे पूछ ही लिया- तुम मेरे पास इतने फ़ोन क्यों करती हो? माही ने कहा- मुझे आपसे बात करना अच्छा लगता है। मैने पूछा- सिर्फ मुझसे बात करना ही अच्छा लगता है या और भी कुछ? तो उसका जवाब मिला- आप भी मुझे अच्छे लगते हो। यह सुनकर मेरे तो पैरों के नीचे से ज़मीन ही खिसक गई… मै सोच में पड़ गया कि क्या कहूँ इससे? आखिर मैने हिम्मत करके उससे पूछा- क्या तुम मुझसे प्यार करती हो? तो उसका जवाब था- हाँ, मै आपको प्यार करती हूँ। मुझे इस जवाब कि उम्मीद नहीं थी, मैने फ़ोन रख दिया और उसकि इस बात के बारे में रात भर सोचता रहा। आखिर मेरी वासना मुझ पर हावी हो गई और दूसरे दिन जब उसका फ़ोन आया तब मैने उसको कहा- मै तुमसे मिलना चाहता हूँ। वो पहले तो मना करने लगी पर बाद में मान गई। मैने उसको दिन और समय बताया और उसको एक होटल में बुला लिया। लड़कि कि बूर चुदाई कि तैयारी जब में होटल में गया, उससे पहले ही एक बिना डॉट वाला निरोध लिया और साथ में एक गुलाब का फूल और कुछ स्वीट्स भी लिया। मैने होटल पहुँचकर उसको फ़ोन किया तो पता चला वो होटल के पास ही है तो मैने उसको अंदर बुला लिया। उस वक्त वह गुलाबी रंग कि टॉप, नीली जीन्स में क़यामत लग रही थी। जैसे ही हम कमरे में पहुँचे, वैसे ही गेट बंद करके सबसे पहले मैने उसको अपने गले लगाकर ‘आई लव यू…’ बोला और एक जोरदार चुम्बन किया, उसने भी मेरा साथ दिया। फिर मैने उसको अपने से अलग किया और साथ में लाया हुआ गुलाब देकर फ़िल्मी अंदाज में उससे अपने प्यार का इजहार किया। मेरा यह अंदाज़ उसको बहुत ही ज्यादा पसंद आया और उसने मुझको तुरंत गले लगा लिया। अब मैने उसके होंठों पर अपने होंठ जमा दिए और चूमने लगा। लगभग 7 मिनट तक हम एक दूसरे को चूमते रहे, उसके बाद मैने उसके कान के नीचे चूमना शुरू किया तो वह बहुत ही बुरी तरह से मचलने लगी और मुझे अपने सीने से जोर से चिपका लिया। अब मैने माही के खूबसूरत गले पर चूमना शुरू किया साथ ही उसकि टॉप उतार दी जिसका उसने भरपूर विरोध भी किया पर मै कहाँ मानने वाला था। अब वह मेरे सामने सफ़ेद रंग कि ब्रा और जीन्स में खड़ी हुई थी। उस वक्त मै अपने आप पर काबू नहीं कर पा रहा था, मैने तुरंत अपनी शर्ट उतार दी और उसको बिस्तर पर पटक दिया। अब मैने उसकि जीन्स उतार फेंकि और अपना भी उतार दी। मै अपने साथ स्वीट्स में कुछ टॉफी भी लाया था, मैने वो टॉफियां निकाली, टॉफ़ी को मैने अपने मुँह में रखा आधा हिस्सा जो बाहर कि तरफ था, माही को खाने के लिए बोला। उसने टॉफ़ी खाने के लिए अपना मुँह मेरे मुँह के पास किया, मैने उसका सर पकड़ लिया। माही ने टॉफ़ी का आधा हिस्सा खाया और मैने उसको उसी स्टाइल में चुम्बन करना शुरू कर दिया। 5 मिनट किस करने के बाद मैने उसके गले पर किस करना शुरू किया तो वो अपने आपे से बाहर होने लगी। इसका फायदा उठाकर मैने अपना हाथ उसके शरीर पर चलाना शुरू कर दिया, मै उसके पेट पर हल्के हल्के हाथ चलाने लगा। अब मैने उसको अपने ऊपर किया और उसकि ब्रा का हुक खोलकर ब्रा उतार दी, अब उसकि दोनों चूची मेरे सामने नंगी थी। मैने देर न करते हुए दोनों बूब्स को बारी बारी से चूसना शुरु किया। माही मेरा सर अपने बूब्स पर बहुत जोर लगा कर दबाने लगी। लगभग 5 मिनट तक मैने उसकि चूची कि चुसाई कि। अब मैने उसकि पेन्टी पर हाथ डाला, उसने तुरंत मेरा हाथ पकड़ लिया और मना करने लगी- ये सब मत करो प्लीज! तो मैने उसको समझाया- सेक्स के बिना प्यार बिल्कुल अधूरा है। मेरे आग्रह और मेरी हरकतों ने उसको मानने के लिए मजबूर कर दिया, मैने उसकि पेन्टी उतार दी। वह खूबसूरत लड़कि अब मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी। थोड़ी देर तो मै उसको देखता ही रहा, उसने शर्म के कारण आँखें बंद कर रखी थी। मैने भी झट से अपने बाकि के बचे कपड़े भी उतार दिए। अब मै माही के ऊपर आ गया और चूची दबाते हुए उसके पेट पर चुम्बन करने लगा। मेरी साँसों से उसके शरीर में सनसनाहट होने लगी, उसने अपने हाथों को मेरे सिर पर घुमाना शुरू कर दिया। पेट पर किस करते करते मैने अपनी जुबान माही कि नाभि में डाल दी, इससे उसकि हालत और भी ख़राब हो गई वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी। अब मैने उसकि बूर के पास जांघों के जोड़ पर किस करना और जुबान घुमाना शुरू किया। लगभग 2 मिनट ऐसा करने पर मैने ध्यान दिया कि माही कि बूर में से पानी कि धार बहने लगी है। बूर में उंगली अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैने उसकि बूर में अपनी एक उंगली डाल दी। थोड़ी देर एक उंगली से चोदने के बाद अपनी दो उंगलियाँ उसकि बूर में डाल दी। उसकि बूर बहुत कसी हुई थी। अब मैने दोनों ऊँगलियों से अपने लंड पर उसकि बूर का रस लगाया। जब माही ने मेरा लंड देखा तो उसकि आँखें फटी कि फटी रह गई, वह कहने लगी- इससे तो मै मर ही जाऊंगी! तो मैने उसको बड़े ही प्यार से समझाया कि लंड तो बूर के लिए ही बना है, इससे डरो मत इससे मज़े लो। अब मै बिस्तर से नीचे उतर गया। माही कि दोनों टाँगों को फैला कर अपना लंड उसकि बूर पर रखा। चूँकि उसका पहली बार था तो मै यह काम बड़े ही आराम से करना चाह रहा था। अब मैने धीरे से माही कि बूर में अपना लंड डालना शुरू किया, अभी 2 इंच ही अंदर गया होगा कि उसकि चीखें निकलना शुरू हो गई, मै थोड़ा रुक गया और उसको चूमने लगा। जब उसको थोड़ा आराम मिला तो मैने थोड़ा जोर लगाकर अपना आधा लंड उसकि बूर के अंदर डाल दिया। उसका मुँह मैने अपने मुँह से बंद कर दिया लेकिन माही कि आँखों में आंसू आ गये जो यह बता रहे थे कि उसको बहुत दर्द हो रहा है। फिर थोड़ा रूककर मैने अपना पूरा 8 इंच का लंड उसके अंदर कर दिया। अब मै रुकने कि हालत में नहीं था तो मैने लंड बूर में धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरू किया। इससे उसको भी आराम मिलने लगा। लगभग 10 मिनट कि घमासान चुदाई के बाद मैने अपना वीर्य उसकि बूर में ही छोड़ दिया। इस दौरान वह झड़ चुकि थी। जब में उसके ऊपर से हटा तो मैने देखा बेड कि चादर पर माही कि बूर से निकले खून के दाग लगे हुए थे। मैने उसी चादर से अपना लंड और माही कि बूर साफ कि। बाद में ध्यान आया कि मै निरोध लगाना ही भूल गया। फिर हमने कपड़े पहने, एक दूसरे को किस किया और बाहर आ गये। उसके बाद पूरे 1 साल तक जब भी मौका मिलता, तब मै और माही एक दूसरे के साथ मज़े से सेक्स करते रहे। पर अब उसके पापा का ट्रान्सफर हो गया और वह मुझसे दूर चली गई। मै अकेला हूँ और आज भी उसको बहुत याद करता हूँ

loading...

आप के लिए चुनिन्दा कहानियां