loading...

मैडम जी का चूत का पानी निकाला

मैडम जी का चूत का पानी निकाला

हाय फ्रेंड्स, Antarvasna मेरा नाम सुभाष है मेरी उम्र 28 साल की है और मैं राँची का रहने वाला हूँ और मैं बी.कॉम की पढ़ाई कर रहा हूँ। दोस्तों आज जो कहानी मैं Isexstory.com के माध्यम से आप सभी को बताने जा रहा हूँ वह पछले साल ही मेरे साथ मेरे कॉलेज में ही घटी थी।

दोस्तों उस समय हमारे कॉलेज में एक बहुत ही खूबसूरत सी दिखने वाली एक नई मैडम आई थी और उसका नाम दीपाली था। दोस्तों वह बहुत ही ज्यादा खूबसूरत थी इसलिए मैं भी उस मैडम के पीछे पड़ गया था और फिर मैं उसको हर समय घूरता ही रहता था। उनको क्लास में पढ़ाने भी नहीं देता था और वह जब घर जाती थी तो मैं भी उनके घर के सामने ही खड़ा रहता था वह मुझसे बिल्कुल बुरी तरह परेशान हो गई थी। मैडम ना ही मेरी प्रिंसिपल को शिकायत कर सकती थी क्योंकि प्रिंसिपल सर मेरे पापा के बहुत अच्छे दोस्त थे। और फिर मैं अब मैडम पर क्लास में फब्तियां भी कसने लग गया था जिससे मैडम का चेहरा गुस्से में एकदम लाल हो जाता था और मुझे गुस्से में भी मैडम बहुत प्यारी लगती थी। उनकी नशीली मोटी-मोटी आँखों का मैं दीवाना हो गया था, जिनको देखकर मैं नशे में डूब जाता था पर मेरे दिल में उनके लिये कोई ग़लत विचार नहीं थे। और फिर एक दिन मैडम ने मुझे अपने कैबिन में बुलाया जहाँ पर सिर्फ़ मैडम अकेली ही बैठी थी मैं उस समय बहुत खुश था और मैं वहाँ जाकर मैडम को घूर रहा था। मैडम का चेहरा नीचे झुका हुआ था और मैडम की आँखें भी गीली हो रही थी और वह रोने ही वाली थी और फिर मैं मैडम के पास गया तो मैडम रोने लग गई थी और फिर मैंने मैडम के कन्धे पर अपना हाथ रख दिया था और फिर मैडम ने मेरा हाथ पकड़कर अपने ब्लाउज पर रख दिया था और फिर वह मुझसे बोली कि, तुम यही चाहते हो ना तो कर लो जो तुमको करना है। दोस्तों उस समय मुझको एकदम से एक जोर का झटका लगा और मैं उनके कैबिन से बाहर आ गया मुझे उस समय कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था और फिर मैं यह सोचने लगा कि, मैडम मेरे बारे में क्या सोचती है। और फिर कॉलेज की छुट्टी हुई तो मैं मैडम के घर के सामने खड़ा हो गया और फिर मैडम आई तो वह मुझे देखकर फिर से रोने को हो गई और फिर वह अपना सिर झुकाकर अपने घर पर चली गई थी। और फिर मैं भी हिम्मत करके मैडम के पीछे-पीछे उनके घर में अन्दर चला गया था।

दोस्तों जब मैं उनके घर में अन्दर गया तो मैंने देखा कि, उनके घर में एक 3 साल की बच्ची और एक नौकरानी थी और फिर उनकी नौकरानी ने मुझे पानी पिलाया और फिर मैडम ने मेरा हाथ पकड़ा और फिर वह मुझको अपने बेडरूम में ले गई थी और मैडम मुझे अभी भी ग़लत ही समझ रही थी। बेडरूम में जाते ही मैडम ने बेडरूम के दरवाजे की चिटकनी लगा दी और फिर वह मेरे पैरों में रोती-रोती गिर गई जिससे मुझे एक झटका सा लगा और मैं पीछे हट गया था। और फिर मैडम मुझसे रोते-रोते ही कह रही थी कि, आप मुझे कॉलेज से ना निकलवाए उसके बदले आप मुझसे जो भी कहेंगे मैं वह करने के लिए तैयार हूँ।

loading...

मुझे उस समय एक और झटका सा लगा और मैं यह सोचने लगा कि, मैडम यह क्या कह रही है? और फिर मैंने आगे बढ़कर मैडम को उठाया और उनके आँसू पौंछे और फिर मैं मैडम से बोलने लगा तो मैडम ने मुझे रोका और कहा कि, आप यही चाहते हो ना कि, मैं आपके साथ रात गुज़ारू? तो मैं तैयार हूँ लेकिन बस आप मुझे नौकरी से मत निकलवाइए। दोस्तों उस समय मुझको कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था कि, मैडम यह सब क्या कह रही है और फिर मैंने मैडम से पूछा तो मैडम ने मुझको बताया कि, मेरे दोस्त उनसे कहते है कि, या तो मैं आपके साथ रात गुज़ारू नहीं तो आप मुझे कॉलेज से निकलवा देंगे। और फिर उन्होंने मुझको यह भी बताया कि, उनका इस संसार में उसकी बेटी के सिवा और कोई भी नहीं है। उनके पति की मौत हो चुकी है और बड़ी मुश्किल से उनको यह नौकरी मिली है। मुझे अपने दोस्तों पर उस समय बहुत गुस्सा आ रहा था और फिर मैंने मैडम को कहा कि, आप मुझको बहुत प्यारी लगती हो पर मेरे दिल में आपके प्रति कोई गलत भावना नहीं है, मुझे आप मेरी जिन्दगी से भी ज़्यादा अच्छी लगती हो। और फिर मैडम ने इसबार हँसकर मुझसे कहा कि, लगता है कि, तुम मुझ पर लाइन मार रहे हो, मुझमें ऐसा क्या अच्छा लगता है तुमको? तो फिर मैंने उनको कहा कि, आपकी आँखें, आपके होंठ. और फिर यह सब सुनकर मैडम शरमा गई थी और फिर मैंने मैडम से कहा कि, क्या मैं आपको किस कर सकता हूँ? और फिर उन्होंने भरे हुए दिल से हाँ कह दिया। लेकिन फिर मैंने उनको कहा कि, अगर आप नहीं चाहती हो तो मुझको मना कर दो और फिर मैडम ने मेरा हाथ पकड़कर मुझसे कहा कि, आप मुझको बहुत अच्छे लगते हो इसलिए आप मेरी किस ले सकते हो। और फिर मैडम ने अपना मुहँ उठाया और अपनी आँखें बन्द कर ली थी मैं उस समय मैडम के होठों को चूमना चाहता था, उस समय मैं मैडम की साँसों को महसूस कर रहा था और फिर उनकी धड़कन तेज हो चुकी थी और फिर मैंने उनके होठों पर किस करने के बजाए उनके गाल पर किस करके जाने लगा। और फिर मैडम ने अपनी आँखें खोली और फिर मैंने उनको आँख मारकर एक फ्लाइयिंग किस दे दी। और अब मैडम और मैं आपस में काफ़ी घुल मिल गये थे और फिर हम एक दूसरे के गले लगने लग गये थे। और फिर मैडम मुझसे पूछने लगी कि, तुमको क्लास में कौनसी लड़की सबसे अच्छी लगती है? और फिर मैंने मैडम का नाम लिया तो, मैडम ने मुझसे कहा कि, मैं तो एक औरत हूँ। तो फिर मैंने उनको कहा कि, मुझको आपके सिवा और कोई पसन्द नहीं है तो फिर मैडम ने मुझसे पूछा कि, मुझमें तुमको ऐसा क्या पसन्द है? तो इसबार मैंने अपना मुहँ मैडम के बब्स पर रख दिया और फिर मैडम ने मेरे चेहरे को दबा लिया और फिर मुझसे कहा कि, मुझे भी तुम बहुत पसन्द हो।

और फिर मैं मैडम के ब्लाउज के ऊपर से ही उनके बब्स का रस पीने लगा और फिर मैंने जोश में आकर उनका ब्लाउज फाड़ दिया। और फिर मैडम मुझसे बोली कि, आज मुझको गुरु-दक्षिणा चाहिये तो फिर मैंने उनसे पूछा कि, गुरु-दक्षिणा में क्या चाहिये मेरी जान को? तो फिर मैडम ने मुझसे कहा कि, मुझे एक बच्चा चाहिये। दोस्तों उनके मुहँ से यह बात सुनते ही मैं मैडम के होठों को ज़ोर-ज़ोर से चूमने लग गया था और मेरा लंड तनकर मैडम की चूxत के ऊपर टकरा रहा था और फिर मेरा हाथ मैडम के कूल्हों पर गया और फिर मैंने उनको ज़ोर से अन्दर की तरफ दबाया तो मैडम बिल्कुल मुझसे चिपक गई थी। और फिर मैंने मैडम की ब्रा भी उतार दी थी और फिर मैंने उनके बब्स की निप्पल को चूस-चूसकर लाल कर दिया था। और फिर मैडम को को दर्द होने लगा तो वह मुझसे बोली कि, सैयाँ जी मुझको नीचे खुजली हो रही है और फिर मैं मैडम की नाभि को और पेट को चूमता और चाटता हुआ नीचे आ गया। और फिर मैं मैडम की चूxत में ऊँगली करने लगा तो वह मेरे ऐसा करने से बहुत गरम हो चुकी थी और फिर जैसे ही मैंने मैडम की चूxत पर अपने होंठ रखे तो उनकी चूxत ने अपना पानी छोड़ दिया था। दोस्तों यह कहानी आप Isexstory.com पर पढ़ रहे है।

और फिर उन्होंने मेरे सिर को अपनी चूxत पर दबा लिया और फिर वह ज़ोर-ज़ोर से सिसकारी लेकर एकदम से शान्त पढ़ गई थी। पर मैं फिर भी मैडम की चूxत के दाने को मसलता रहा और फिर थोड़ी देर के बाद हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गये थे मैडम बहुत अच्छे तरीके से मेरा लंड चूस रही थी और मैं उनकी चूxत को। और फिर मैं उनके ऊपर बैठ गया था और अपने लंड से उनके बब्स को रगड़ने लगा इस बीच जब भी मेरा लंड ऊपर जाता तो वह उसे अपनी जीभ से चाट लेती थी। और फिर मैं ऐसे ही 5-7 मिनट में झड़ गया और वह मेरा सारा रस पी गई थी पर मैडम ने फिर भी मेरा लंड नहीं छोड़ा और वह उसको चूसती ही रही. और फिर हम फिरसे 69 की पोजीशन में आ गये थे। और फिर थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से तैयार हो चुका था और उनकी चूxत से मिलन के लिए तैयार हो गया था। और फिर मैडम मुझसे बोली कि, पिया फाड़ दो मेरी चूxत को और मुझे अपने बच्चे की माँ बना दो और फिर मैंने एक ही झटके में अपने लंड को उनकी चूxत गहराईयों में उतार दिया जिससे मैडम की चीख निकल गई थी लेकिन मैं फिर उनको प्यार करता रहा और फिर हम फिर एक-दूसरे के हो गये। और फिर 20 मिनट की चुदाई के बाद मैं उनकी चूxत में ही झड़ गया और फिर 10 मिनट तक उनके ऊपर ही लेटे रहने के बाद मैं उनसे अलग हुआ और फिर मैं अपने कपड़े पहनकर उनको एक किस देकर अपने घर आ गया था।

दोस्तों उस दिन के बाद तो हमारी चुदाई का जो सिलसिला शुरू हुआ वह आज तक चल रहा है।

loading...

आप के लिए चुनिन्दा कहानियां